Ebook Details

Overview (1 Users Reviews)

डिअर हिंदी कैसी हो तुम या आप (अपने हिसाब से समझ लो) जवाब मत देना क्योंकि मुझे भी पता है कि हिंदी की हालत कैसी है, लोगो को भी और खुद आपको भी भी! सुना है कोई खास दिन है तुम्हारा सोचा कोई मैसेज लिख दूँ, अपने हिस्से का काम पूरा कर लूं। इसलिए ये खत लिखा है। आज विश्व हिंदी दिवस है, आपका दिन, आपका सिर्फ एक दिन! और आशा भी क्या करना, एक दिन दिया ना और ज्यादा उम्मीद ना करना क्योंकि अब सिर्फ दिन दिन का ही खेल बचा है, वैलेंटाइन, क्रिसमस, होली दीवाली, देश सबके लिए सिर्फ एक ही दिन तो निर्धारित किया है ना हमने तो आपको भी एक ही दिन दिया। आप तो अहसान मानो कि आपको पूरा पखवाड़ा दिया है। खैर जाने दो..!! मेरे पड़ोस में एक बूढ़ी काकी रहती है जिसका एकलौता बेटा सिर्फ पढ़ाई के लिए विदेश गया और फिर वही का हो कर रह गया, सुनने में आया है किसी गोरी मैम से दिल लगा बैठा है। जब भी उसकेे बारे में सोचता हूँ आपकी याद आ जाती है। आपके बेटो ने भी तो यही किया है ना! उनका दिल भी तो....!! खैर और करे भी तो क्या! हिंदी बोल कर गवार थोड़ी बने रहना है, हिंदी लिख कर बेकार थोड़ी बनना है। हमारा भी एक स्टेटस है,क्लास है जो हिंदी से नही दिखा सकते। swag कभी हिंदी से नही दिखती भाई उसके लिए तो कूल वाली अंग्रेजी चाहिए। मैं भले ही कितने ही हिंदी की बड़ाई कर लूं पर मेरा बेटा जाएगा तो एक बड़े अंग्रेजी स्कूल में ही, आखिर उसे गवार थोड़ी बनाना है!उसे तो बड़ा आदमी बनाना है और उसके लिए अंग्रेजी चाहिए। हाँ मानता हूं कि अंग्रेजी संस्कार नही दे सकती वो सिर्फ अपने भाषा "मातृभाषा" हिंदी से मिल सकती है पर "क्या फर्क" पड़ता है! पैसे तो दिलाएगी ना!! खैर ज्यादा नही कहना है, एक दिन में ही खुश रहो बहुत ज्यादा की उम्मीद मत रखना क्योंकि हम सिर्फ गालियाँ हिंदी में दे सकते है। और फेसबुक पर हैशटैग सलेब्रेटिंग हिंदी डे लिख कर पिक्चर्स अपलोड करेगे ही ना, और क्या गदर मचा दी हम! फ़ोटो के अपलोड करते ही लाइक कर देना, हो सकते तो दिल वाला रिएक्शन देना मज़ा आएगा और शेयर कर दोगे तो और ज्यादा मज़ा आएगा। इसी के साथ बाय, टेक केअर एंड लव यू सो मच! तुम्हारा हिंदी प्रेमी #अभिषेक शर्मा

Add a Review
Your Rating